ग्राम पीपरोली में शांति पूर्ण निकली दूल्हे की बिंदोरी

ग्राम पीपरोली में दलित समाज के दूल्हे को बिंदोरी नहीं निकलने जाने के घटनाक्रम का आज सौहार्द पूर्ण माहौल बिंदोरी कार्यक्रम सम्पन्न हुआ । ज्ञात रहे ग्राम पीपरोली के नंदराम बैरवा पुत्र सुखदेव बैरवा ने जिला कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक से बिंदोरी निकलने को लेके सुरक्षा की गुहार लगाई थी नंदराम के भाई ओमप्रकाश का कथन था कि पीपरोली ग्राम के दबंगो द्वारा उसके भाई की बिंदोरी नही निकलने दी जा रही है। इसको लेकर दूल्हे के भाई ओमप्रकाश ने बसपा के नेताओ के साथ मिलकर पिछले चार दिन से जिला मुख्यालय पर सुरक्षा की गुहार लगा रहे थे जिसके चलते ऐतिहात के तौर पे भारी मात्रा में पुलिस जाप्ता जिसमे

की चार पुलिस थाने के थाना अधिकारी, व्रत अधिकारी केकड़ी, उपखंड अधिकारी सरवाड़,तहसीलदार टाटोती मौजूद रहे ।

दिनांक 18 मई को भी स्थानीय प्रशासन की ग्रामीणों के साथ जान सहभागिता मीटिंग का आयोजन हुआ जिसमें भी इस बात का खुलासा हुआ कि अगर नंदराम दूल्हे की बिंदोरी निकलती है तो किसी भी ग्राम वासी को आपत्ति नही है ग्रामीणों का कथन है कि दूल्हे के भाई ओमप्रकाश ने ग्रामीणों पर आरोप लगा कर भारी मात्रा में पुलिस जाप्ता तैनात करवा कर सस्ती लोकप्रियता हांसिल करने के लिए ग्रामीणों पर तरह तरह के आरोप लगाए और मौके पर जब प्रशासन पहुचा तो माहौल बहुत ही सौहार्दपूर्ण उससे पहले ही ग्रामीणों ने बिंदोरी के स्वागत की तैयारियां कर रखी थी और जब दूल्हे की बिंदोरी निकली तब ग्रामीणों ने दूल्हे के स्वागत कर बिंदोरी का भी स्वागत किया और यह साबित कर दिया कि पीपरोली गांव में 36 कौम के व्यक्ति प्रेम और सोहरत के वातावरण में रहते है एवं दूल्हे नंदराम की शादी में सभी ग्रामीण में शरीक हुए एवं एक मिसाल पेश की

सरवाड़ के पंचायत समिति सदस्य शक्ति प्रताप सिंह पीपरोली ने कहा कि गाँव की एकता अखंडता प्रेम और सौहार्द के वातावरण को कोई खराब करें इससे कतई बर्दाश्त नही किआ जाएगा और ऐसी असामाजिक ताकतों के खिलाफ पूरा गांव एक जुट है किसी भी षडयंत्रकारी के षड्यंत्र को सफल नही होने दिया जाएगा और आवयशक होगा तो कानूनी करवाई भी की जाएगी

25 views0 comments